उत्तराखंड देश होम

छोटी सरकार चुनने को 69.78 फीसद हुअा मतदान : उत्‍तराखंड निकाय चुनाव

उत्‍तराखंड निकाय चुनाव: छोटी सरकार चुनने को 69.78 फीसद हुअा मतदान

प्रदेश के 92 में से 84 नगर निकायों के चुनाव के लिए रविवार को छिटपुट झड़पों और मारपीट की घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। 69.78 फीसद लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया, जो पिछले चुनाव में हुए मतदान से 4.22 फीसद अधिक है।

काशीपुर नगर निगम के वार्ड 31 में पार्षद पद के त्रुटिपूर्ण मतपत्र के चलते पार्षद का मतदान स्थगित कर दिया गया। इस पद के लिए सोमवार को पुनर्मतदान के आदेश दिए गए हैं। हरिद्वार जिले के ज्वालापुर में भाजपा व कांग्रेस समर्थकों में हुई झड़प व मारपीट को देखते हुए पुलिस को लाठियां फटकारनी पड़ीं। हल्द्वानी, ऋषिकेश, टिहरी समेत अन्य कई स्थानों पर मतदान के दौरान हंगामे की स्थिति बनी। मतदान के दौरान कुछेक बूथों पर मतदान कर्मियों को बदला गया। देहरादून की वसुंधरा कॉलोनी के लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया। उधर, देर शाम से पोलिंग पार्टियों की वापसी सिलसिला शुरू हो गया। मध्य रात्रि तक मतपेटियों को स्ट्रांग रूम में जमा कराया जा रहा था।सात नगर निगम, 39 नगर पालिका परिषद और 38 नगर पंचायतों के चुनाव के लिए रविवार सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हुआ। पहले दो घंटों में मतदान की गति धीमी रही, मगर इसके बाद मतदाताओं ने जबर्दस्त उत्साह दिखाया। अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि शाम चार बजे बजे तक 59.97 फीसद मतदान हो चुका था। शाम पांच बजे तक तमाम पोलिंग बूथों पर लंबी कतारें लगी हुई थीं। इनमें मतदान देर रात तक चला। कोटद्वार नगर निगम के झंडीचौड़ जोन के कुछ बूथों में रात साढ़े 10 बजे तक मतदान हुआ।

मतदान के दौरान कई मतदेय स्थलों में समर्थकों के बीच झड़पें हुईं और हंगामे की नौबत आई। हरिद्वार जिले में ज्वालापुर के वार्ड 41 व 43 के पोलिंग बूथों पर भाजपा व कांग्रेस के पोलिंग एजेंटों के मध्य हुए विवाद के बाद दोनों दलों के समर्थकों में तीखी नोकझोंक हो गई। इस पर पुलिस को लाठियां फटकारने को मजबूर होना पड़ा। ऋषिकेश नगर निगम के एक वार्ड में भी मतदान के अंतिम चरण में दो प्रत्याशियों के समर्थकों के मध्य मारपीट हुई, जिसमें एक प्रत्याशी को चोटें आईं। यहां भी पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।

हरिद्वार के लक्सर में फर्जी वोट डालने को लेकर हुए हंगामे के बाद वहां पीठासीन अधिकारी को बदले जाने के बाद मामला शांत हुआ। देहरादून के बालावाला इंटर कॉलेज स्थित मतदेय स्थल में पोलिंग अफसर की तबीयत बिगडऩे पर  रिजर्व में रखे गए अधिकारी को यह जिम्मेदारी सौंपी गई। टिहरी में एक  पोलिंग बूथ पर वोट डालने के लिए लाइन में लगे एक प्रत्याशी के भाई और पुलिस के मध्य विवाद के चलते हंगामा हुआ।

देहरादून के कारगी रोड स्थित वसुंधरा एन्क्लेव कॉलोनी के लोगों ने खाता खतौनी व खसरा नंबर दुरुस्त कराने के मामले में सुनवाई न होने के विरोध में चुनाव का बहिष्कार किया। वहीं, लगभग सभी निकायों में कहीं मतदाता सूचियों में नाम न होने और कहीं गलत नाम अंकित होने के कारण तमाम मतदाताओं को बैरंग भी लौटना पड़ा। इससे उनमें आक्रोश देखा गया।