देश राजनीती होम

राजे सरकार के तीसरे मंत्री भडाना भी हुए बागी, निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव

बीजेपी और कांग्रेस में जैसे-जैसे प्रत्याशियों की सूचियां आ रही हैं, वैसे वैसे बगावत की चिंगारी और भड़कती जा रही है. बीजेपी की तीसरी सूची में टिकट कटने से खफा हुए वसुंधरा राजे सरकार के तीसरे मंत्री हेमसिंह भडाना भी बागी हो गए हैं. टिकट कटने से नाराज भडाना ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. भडाना सोमवार को अपना नामांकन दाखिल करेंगे.
मंत्री हेमसिंह भडाना अलवर के थानागाजी विधानसभा क्षेत्र से विधायकहैं. वे राजे सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं. वे इस बार भी टिकट के प्रबल दावेदार थे. लेकिन पार्टी ने इस बार भडाना का टिकट काटते हुए पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा को टिकट दिया है. पहली सूची में नाम नहीं आने के साथ ही भडाना की टिकट पर संकट के बादल मंडराने लगे थे. उसके बाद भडाना ने सीएम राजे से मुलाकात भी की थी. लेकिन जिस दिन वे राजे से मुलाकात करने आए उस दिन उनके चेहरे के हाव भाव निराशाजनक थे.शनिवार को तीसरी सूची में भी नाम नहीं आने और टिकट कटने से भडाना के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने थानागाजी कस्बे में तत्काल कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर बगावत का बिगुल बजा दिया. भडाना ने कहा कि उन्होंने बीजेपी को थानागाजी में खड़ा किया है और अब निर्दलीय चुनाव लड़कर जीतेंगे. उन्होंने कहा कि वे भविष्य में कभी बीजेपी में नहीं आएंगे और पार्टी को सबक सिखाएंगे. इस दौरान बड़ी संख्या बीजेपी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे.उल्लेखनीय है कि भडाना से पहले राजे सरकार के कैबिनेट मंत्री सुरेन्द्र गोयल और राज्यमंत्री राजकुमार रिणवां भी टिकट कटने से खफा होकर चुनाव मैदान में निर्दलीय ताल ठोक चुके हैं. गोयल पाली के जैतारण विधानसभा क्षेत्र से और रिणवां चूरू के रतनगढ़ विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं. जबकि परिवहन मंत्री युनूस खान अभी टिकट का इंतजार कर रहे हैं.