उत्तर प्रदेश देश होम

ट्रेड फेयर 2018 : मेले में आपके लिए है बहुत कुछ खास

Trade Fair 2018

प्रगति मैदान में अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला रविवार से आम लोगों के लिए खुल जाएगा। मेले में इस बार विभिन्न तरह के देशी-विदेशी उत्पाद आए हैं जो लोगों का ध्यान खींच रहे हैं। हालांकि, पिछले वर्षों की तुलना में इस बार यह एक चौथाई हिस्से में हो रहा है।व्यापार मेले के हॉल नंबर 7 में लगे सरस मंडप में देसी उत्पाद धूम मचा रहे हैं। ग्रामीण विकास मंत्रालय की तरफ से लगाए गए इस मंडप में भारत के ग्रामीण अंचलों के पारंपरिक उत्पाद एक छत के नीचे उपलब्ध हैं। इसमें हैंडलूम और हैंडीक्राप्ट प्रमुख है। यहां आंध्र प्रदेश के महिला समूह द्वारा बनाया गया अचार, असम की टोकरी, टिफिन, बॉटल कवर, बैग, योगा मैट आदि खरीद सकेंगे।दुबई, म्यामांर और थाईलैंड की ज्वैलरी को महिलाओं द्वारा विशेष तौर पर पंसद किया जा रहा है। हॉल नंबर 12 में म्यामांर और दुबई के स्टॉल पर 18 कैरेट गोल्ड की ज्वैलरी लोगों को लुभा रही है।

हुनर हाट में जम्मू-कश्मीर के कारीगरों द्वारा हाथ से बनाए तांबे के बर्तन, लकड़ी की पेंटिंग, गुलदस्ते समेत हैंडीक्राफ्ट और हैंडलूम के कई उत्पाद आसानी से खरीद सकेंगे।मेला में जाएं तो स्वास्थ्य जांच जरूर करवाएं। चार स्वास्थ्य जांच शिविर लगाए गए हैं, जिनमें स्तर कैंसर से लेकर खून, बीएमआई, शुगर, दांतों की जांच एम्स, सफदरजंग, आरएमएल के डॉक्टरों की टीम की तरफ से मुफ्त की जा रही है। हॉल नंबर 12 ए के बाहर गेट 10 के पास, आईटीपीओ कार्यालय के पास और हॉल नंबर 7 में लगे शिविरों में मुफ्त जांच कराएं।मेले में अफगानी सूखे मेवों की खूब मांग हो रही है। वहीं, अपने आकार और स्वाद के कारण कंधारी अनार भी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। अफगानिस्तान मेले का साझीदार राष्ट्र होने के कारण इस बार वहां से बड़ी संख्या में सूखे मेवे के व्यापारी यहां पहुंचे, जिन्होंने हॉल नंबर 12 में लगे पवेलियन में अपने स्टाल लगाए हैं। मेले में 15 मिनट के अंदर आधार कार्ड के लिए आवेदन किया जा सकता है। इसमें सुधार या पता बदलवाने के लिए मेले में 10 मिनट समय खर्च करना पड़ेगा। यूएडीआई की तरफ से हॉल नंबर 7 के अंदर स्टॉल लगवाया गया है, जिसमें मात्र 30 रुपये के शुल्क का भुगतान कर इसका लाभ उठाया जा सकता है।

उत्तर प्रदेश सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सत्यदेव पचौरी ने शुक्रवार को कहा कि प्रदेश सरकार छोटे उद्योगों को बढावा दे रही है। सरकार ने एक जनपद-एक उत्पाद महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है। इसे बढ़ावा देने के लिए अब तक सत्तर हजार से अधिक उद्यमियों को ऋण दिया गया है। भारत अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में उत्तर प्रदेश दिवस की शुरुआत करते हुए सत्यदेव पचौरी ने कहा कि प्रदेश सरकार हस्तशिल्पियों और निर्यातकों के प्रोत्साहन के लिए लगातार कोशिश कर रही है।