देश राजनीती होम

अध्यक्ष वाले चैलेंज पर चिदंबरम ने पीएम मोदी पर किया पलटवार

पीएम मोदी की ओर से कांग्रेस को 5 साल के लिए गांधी परिवार से बाहर के किसी शख्स को पार्टी अध्यक्ष बनाने के चैलेंज का पी. चिदंबरम ने जवाब दिया है। कांग्रेस के सीनियर लीडर ने पीएम की टिप्पणी पर जवाब देते हुए कहा कि उनकी याददाश्त कमजोर है। चिदंबरम ने कांग्रेस के 15 गैर नेहरू-गांधी अध्यक्षों के नाम गिनाते हुए कहा कि अब वे राफेल डील, बेरोजगारी और किसानों की आत्महत्या के मुद्दे पर जवाब दें। छत्तीसगढ़ में शुक्रवार को एक चुनावी रैली में मोदी ने कांग्रेस से कहा था कि वह नेहरू-गांधी परिवार के बाहर के किसी योग्य कांग्रेसी को पांच साल के लिए पार्टी का अध्यक्ष बनाए। चिदंबरम ने लगातार ट्वीट कर अध्यक्षों के नाम गिनाए और कहा कि कांग्रेस को स्वतंत्रता के बाद बाबासाहेब भीम राव आंबेडकर, लाल बहादुर शास्त्री, के. कामराज और मनमोहन सिंह जैसे सामान्य पृष्ठभूमि के नेताओं और आजादी से पहले कई अन्य हजारों नेताओं पर गर्व है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री मोदी की याददाश्त सही करने के लिए : 1947 के बाद कांग्रेस अध्यक्षों में आचार्य कृपलानी, पट्टाभि सीतारमैया, पुरुषोत्तमदास टंडन, यू एन धेबर, संजीव रेड्डी, संजीवैया, कामराज, निजलिंगप्पा, सी सुब्रमण्यम, जगजीवन राम, शंकर दयाल शर्मा, डी के बरुआ, ब्रह्मानंद रेड्डी, पी वी नरसिम्हा राव और सीताराम केसरी हैं।’

मोदी पर निशाना साधते हुए चिदंबरम ने कहा कि वह आभारी हैं कि प्रधानमंत्री इस बात को लेकर ‘चिंतित’ हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष किसे निर्वाचित किया गया और उनके पास इस बारे में बात करने के लिए काफी वक्त है। उन्होंने कहा, ‘क्या वह नोटबंदी, जीएसटी, राफेल और आरबीआई के बारे में बात करने में इसका आधा समय भी देंगे।’

उन्होंने कहा, ‘क्या प्रधानमंत्री मोदी किसानों की आत्महत्याओं, बड़े पैमाने पर बेरोजगारी, मॉब लिंचिंग, महिलाओं और बच्चों के खिलाफ बलात्कार, गो रक्षक और बढ़ते आतंकवादी हमलों पर भी बोलेंगे?’ उत्तरी छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में एक रैली में मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी निशाना साधा और उनसे देश को नेहरू-गांधी परिवार की चार पीढ़ियों के योगदानों का हिसाब देने के लिए कहा।