उत्तराखंड देश मनोरंजन होम

शादी करने सात समंदर पार पहुंची विदेशी दुल्हनिया, पहाड़ी परंपराओं संग लिए सात फेरे !

शादी के दौरान विदेशी जोड़ा

विदेशी दुल्हनिया जब अपने प्रेमी संग सात फेरे लेने सात समंदर पार अपने परिवार संग पहुंची तो सब देखते रह गए। प्रेमी जोड़े ने दुनिया की चकाचौंध को छोड़ पहाड़ी परंपराओं संग जीवनभर का बंधन बांधा। हल्दी से लेकर शादी तक की तस्वीरें देखकर आपका दिल भी खुश हो जाएगा।  नैनीताल के रामनगर के एक रिजॉर्ट में मंगलवार को अमेरिकी युवती के साथ हल्द्वानी के युवक ने सात फेरे लिए। युवती के परिजन कुमाऊंनी रीति-रिवाज से इस कदर प्रभावित हुए कि दुल्हन के साथ उसकी मां तक ने यहां के पारंपरिक परिधान धारण किए।हल्द्वानी निवासी उमेश चंद्र लोहनी का बेटा रचित लोहनी अमेरिका में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। अमेरिका में रचित की मुलाकात थॉमस इनग्रम हैमिलटन की बेटी जैनी हैमिलटन से हुई और दोनों में प्रेम हो गया। दोनों ने एक दूसरे के साथ शादी करने का निर्णय लिया। दोनों ने पहले अमेरिका में शादी की। इसके बाद युवती अपने परिवार के 12 सदस्यों के साथ यहां पहुंची। यहां कुमाऊंनी रीति रिवाज के साथ दोनों ने रामनगर छोई स्थित कॉर्बेट द ग्रेट रिजॉर्ट में फिर शादी की।  रिजॉर्ट के जीएम नवीन चौधरी ने बताया कि दुल्हन और उसका परिवार कुमाऊंनी रीति रिवाजों से बेहद प्रभावित हुए। बुधवार को हल्द्वानी में रिसेप्शन का कार्यक्रम है। बता दें कि हाल ही में इटली के एक युवा जोड़े ने भी उत्तरकाशी में आधुनिक चकाचौंध को छोड़कर यहां वैदिक परंपराओं से विवाह किया। भटवाड़ी ब्लॉक के गणेशपुर स्थित आश्रम में हुए इस शादी समारोह में दक्षिण भारत और गढ़वाल की समृद्ध संस्कृति का अनूठा संगम देखने को मिला।  मां गंगा, योग, आध्यात्म व साहसिक पर्यटन के लिए मशहूर उत्तरकाशी की देव भूमि विदेशी पर्यटकों के लिए हमेशा से आकर्षण का केंद्र रही है।