देश राजनीती होम

मुख्यमंत्री नीतीश के खिलाफ मोर्चा पर मुश्किलों में घिरे कुशवाहा

Bihar : Upendra Kushwaha in problems after coming on front against CM Nitish Kumar

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश के खिलाफ मोर्चा पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) प्रमुख व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा मुश्किलों में घिर गए हैं। पार्टी के दो विधायकों के बगावत के संकेत के बाद पार्टी के दूसरे सांसद रामकुमार शर्मा ने भी कुशवाहा से संबंध तोड़ने का साफ संकेत दिया है।

कुशवाहा इससे पहले राष्ट्रीय जनता दल से नजदीकियां दिखा कर कई बार एनडीए छोडने का संकेत दे चुके हैं। भाजपा सूत्रों के मुताबिक पार्टी के अंदर मची महाभारत के बीच कुशवाहा ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलने का समय मांगा है। मगर भाजपा उन्हें ज्यादा भाव देने के मूड में नहीं लग रही है।

गौरतलब है कि इसी हफ्ते रालोसपा के दोनों विधायकों ने जदयू में शामिल होने के संकेत दिए थे। इस पर कुशवाहा और जदयू के बीच शुरू हुई जुबानी जंग के बाद अब पार्टी के एक और सांसद रामकुमार शर्मा ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि वह जदयू और सीएम नीतीश कुमार के लगातार संपर्क में हैं।

पार्टी के तीन सांसदों में से एक अरुण कुमार ने पहले ही कुशवाहा से दूरी बना रखी है। जदयू, भाजपा और लोजपा में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद बिहार में सीट बंटवारे की घोषणा करने पर सहमति बन गई है। नए फार्मूले के तहत जदयू-भाजपा को 17-17 व लोजपा को 6 सीटें देने की बात कही जा रही है।