Breaking News देश राजनीती होम

राजकीय सम्मान से होगा अनंत कुमार का अंतिम संस्कार

राजकीय सम्मान से होगा अनंत कुमार का अंतिम संस्कार, आज छुट्टी घोषित

केंद्र सरकार के संसदीय कार्यमंत्री और बीजेपी नेता अनंत कुमार का निधन हो गया है. उन्होंने 59 साल की उम्र में बेंगलुरु में अंतिम सांस ली. उनके निधन पर राजनीति और अन्य क्षेत्रों के तमाम दिग्गजों ने शोक व्यक्त किया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पूरे देश में राष्ट्रध्वज आधा झुकाने का निर्देश दिया है. राजकीय सम्मान से उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.कुमार के निधन पर कर्नाटक में आज छुट्टी भी घोषित कर दी गई है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक व्यक्त करते हुए कहा- ‘अनंत कुमार का निधन देश के सार्वजनिक जीवन में बहुत बड़ी क्षति है, खासकर कर्नाटक के लोगों के लिए. उनके परिवार, सहयोगी और अनंत शुभेच्छुओं को मेरी सांत्वना.’अनंत कुमार के निधन पर शोक जताते हुए उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा, ‘वे कुछ समय से बीमार थे लेकिन ऐसा होगा यह नहीं सोचा था. हमें लग रहा था कि वे जल्दी स्वस्थ हो जाएंगे और लोगों की सेवा पुनः शुरू करेंगे. मैं उनकी पत्नी और बच्चों को तहे दिल से सांत्वना प्रेषित करता हूं.’कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर अनंत कुमार के निधन पर शोक जताया. उन्होंने कहा कि बेंगलुरु में सोमवार की सुबह अनंत कुमार जी के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं. उनके परिवार और दोस्तों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. ईश्वर उनकी आत्म को शांति दे.वहीं गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा कि सरकार और पार्टी में अनंत कुमार के साथ काम करने की तमाम यादें मेरे दिमाग में हैं. ये यादें मेरे साथ हमेशा बनी रहेंगी. उनके निधन से बीजेपी को बड़ा नुकसान हुआ है. साथ ही यह मेरा व्यक्तिगत नुकसान भी है.राजनाथ सिंह ने कहा कि वरिष्ठ सहयोगी और अपने दोस्त अनंत कुमार के निधन से बहुत दुखी हूं. वह अनुभवी नेता थे जिन्होंने अपनी पूरी क्षमता के साथ राष्ट्र की सेवा की. लोगों के कल्याण के लिए उनके जुनून और भक्ति सराहनीय थी. उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं.केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शोक जताते हुए कहा, ‘अनंत कुमार जी का निधन देश और मेरे व्यक्तिगत जीवन के लिए बहुत बड़ी क्षति है. वे हमलोगों के अनन्य मित्र और महान मार्गदर्शक थे. हाल में बीते कर्नाटक चुनाव में हमलोगों ने एक साथ काम किया था. उनका अचानक जाना सबके लिए सदमा है. बेंगलुरु में उनकी अंतिम यात्रा में हमलोग शामिल होंगे.’