देश राजनीती होम

10 साल केंद्र में रहने के बावजूद कांग्रेस ने की छत्तीसगढ़ की अनदेखी: पीएम मोदी

विधानसभा चुनाव 2018 के पहले चरण के लिए राज्य के सभी राजनीतिक दलों ने अपनी ताकत झोंक दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को नक्सल प्रभावित क्षेत्र बस्तर में चुनाव प्रचार करने पहुंचे हैं। प्रधानमंत्री ने जगदलपुर में चुनावी शंखनाद करते हुए विपक्ष पर निशाना साधा।

जगदलपुर में सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस देश में जितने प्रधानमंत्री हुए हैं वे जितनी बार बस्तर आए होंगे, मैं उससे ज्यादा बार अकेला बस्तर आया हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बस्तर मेरे दिल के सबसे करीब है। मैं यहां जब भी आया हूं कभी खाली हाथ नहीं आया। हर बार विकास की नई योजना के लेकर आया हूं। सरकारें तो पहले भी होती थी, लेकिन विकास कहीं होता था।

पीएम मोदी ने कहा कि पहले जो सरकारें रहीं उनकी सोच रहती थी मेरा-तेरा, मेरी जात वाला मेरी बिरादरी वाला, मेरा रिश्तेदार और मेरा परिवार। हमनें इन स्थितियों को बदला है हमारा मंत्र है सबका साथ – सबका विकास। मेरे तेरे का खेल अब कोई बर्दाश्त करने वाला नहीं है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के विकास के लिए केंद्र की सरकार और राज्य की रमन सिंह सरकार लगातार कार्य कर रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि जिन बच्चों के हाथ में कलम होनी चाहिए, राक्षसी मनोवृत्ति के लोग उनके हाथ में बन्दूक पकड़ा देते हैं। अर्बन माओवादी लोग खुद ऐश की जिन्दगी जीते हैं और आदिवासी बच्चों की जिन्दगी तबाह करते हैं और कांग्रेस के लोग ऐसे अर्बन माओवादी लोगों को बचाने के लिए मैदान में उतर आते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अटल जी ने छत्तीसगढ़ के लिए जो सपने देखें थे उनको पूरा करने के लिए मैं बार-बार छत्तीसगढ़ आया हूं। जब तक मैं अटल जी के सपने पूरे नहीं कर देता तब तक चैन से बैठने वाला नहीं हूं।

पीएम मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा के नेतृत्व में जो विकास यात्रा चली है उसको रुकने नहीं देना है। वो समय अब दूर नहीं है जब छत्तीसगढ़ देश के उत्तम राज्यों में से एक होगा।

उन्होंने कहा कि 10 साल तक केंद्र में जो कांग्रेस की सरकार थी उसने छत्तीसगढ़ में हो रहे विकास कार्यों को अटकाने और लटकाने के भरसक प्रयास किए, इसके बाबजूद रमन सिंह जी ने छत्तीसगढ़ की विकास यात्रा को रुकने नहीं दिया।

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी दलितों, पीड़ितों, शोषितों, वंचितों और गरीबों को सिर्फ और सिर्फ अपना वोट बैंक मानती है, कांग्रेस पार्टी इन्हें इंसान के रूप में देखने को तैयार नहीं है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कांग्रेस की कई सरकारें चली लेकिन कभी आदिवासियों के विकास की चिंता नहीं की। अटल जी देश के पहले प्रधानमंत्री थे जिन्होंने आदिवासियों के विकास के लिए एक अलग मंत्रालय बनाया और देश में आदिवासियों के विकास के लिए वैज्ञानिक तरीके से आगे बढ़ने का सिलसिला शुरू हुआ किया।

पीएम मोदी ने कहा कि वो दिन भी दूर नहीं जब छत्तीसगढ़ का भविष्य बस्तर की आर्थिक समृद्धि से जुड़ने वाला है।

छत्तीगसढ़ में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों के लिए सभी दलों ने प्रचार में पूरी ताकत लगा दी है. भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जगदलपुर में रैली को संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत छत्तीसगढ़ी भाषा में की.

PM ने कहा कि भाईदूज के त्योहार के दिन मैं आपसे कुछ मांगने आया हूं. अब तक देश में जितने भी प्रधानमंत्री हुए हैं, उनसे ज्यादा बार मैं अकेला बस्तर आया हूं. जब भी आया हूं खाली हाथ नहीं आया हूं.

PM मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों का कारोबार तेरा-मेरा का था, मैं आज अपनी जिम्मेदारी अदा करने आया हूं. जिम्मेदारी के तहत यहां के लोगों की कठिनाइयों को दूर करना है. प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की सरकारें मेरे-तेरे के खेल में उलझी रहीं, लेकिन हमारा मकसद सबका साथ सबका विकास है. छत्तीसगढ़ का विकास देख लोगों को आश्चर्य होता है.प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की सरकारें कहती थीं कि नक्सलियों की वजह से यहां का विकास नहीं हो रहा है. लेकिन हमारी सरकार ने सभी मुश्किलों का सामना कर विकास किया. जो अर्बन माओवादी हैं वो शहरों में एसी में रहते हैं और उनके बच्चे विदेशों में पढ़ते हैं, लेकिन वहां बैठे-बैठे आदिवासी बच्चों की जिंदगी बर्बाद करने का काम करते हैं. कांग्रेस पार्टी अर्बन माओवादियों के पक्ष में खड़ी होती है, नक्सलवाद को मुद्दा बनाकर कांग्रेस वोटों की खेती कर रही है.प्रधानमंत्री ने कहा कि बस्तर की हर सीट पर कमल खिलना चाहिए, अगर और कोई आ गया तो बस्तर के सपनों में दाग लगा देंगे. हमें अटल जी के सपनों को पूरा करना है, इसलिए हम बार-बार छत्तीसगढ़ में आए हैं. छत्तीसगढ़ अब 18 साल का हो रहा है, इसलिए हम इसके सपनों को पूरा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के विकास के लिए केंद्र की सरकार और राज्य की रमन सिंह सरकार लगातार कार्य कर रही है.

जब छत्तीसगढ़ बना तो शुरुआत में कांग्रेस की सरकार बनी, इन्होंने शुरू में ही इसके साथ गलत कर दिया. लेकिन कुछ ही समय में लोगों ने समझदारी की और भारतीय जनता पार्टी को चुना. BJP की सरकार ने 15 साल तक छत्तीसगढ़ के विकास के लिए खून-पसीना बहाया है. PM बोले कि जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी, तो रमन सिंह सरकार की मदद नहीं करती थी. दिल्ली की सरकार छत्तीसगढ़ के सारे काम को अटकाना चाहती थी.

पीएम मोदी बोले कि 2014 के बाद से छत्तीसगढ़ के विकास को डबल इंजन मिला, एक दिल्ली का इंजन और रायपुर का इंजन. हमारी सरकार ने छत्तीसगढ़ के 9000 गांवों को सड़कों से रोक दिया, राज्य में नेशनल हाइवे का नया जाल बना दिया गया है. कांग्रेस हमेशा दलित-पीड़ितों को वोटबैंक के रूप में देखती है, कभी इंसान के रूप में नहीं देखती है. अटल जी की सरकार ने पहली बार आदिवासियों के लिए अलग से मंत्रालय बनाया था.

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी आदिवासियों की वेशभूषा, उनके रहने-सहने का मजाक उड़ाती है. जब मुझे आदिवासियों ने पगड़ी पहनाई, तो कांग्रेस ने उसका मजाक उड़ाया. तभी से पूर्वोत्तर के आदिवासी कांग्रेस से नाराज हैं, अब कांग्रेस वाले ऐसा कुछ बोलने की हिम्मत नहीं करते. एक समय पर कांग्रेस ने आदिवासियों को गोलियों से भून दिया था.प्रधानमंत्री बोले कि नक्सलियों ने एक पत्रकार को मार दिया, वो तो सिर्फ यहां अपना काम करने आया था. लेकिन कांग्रेस पार्टी इन नक्सलियों को क्रांतिकारी कहती है, जिन्होंने निर्दोष को मार दिया वो इन्हें क्रांतिकारी लग रहे हैं. जो लोग लोकतंत्र को खत्म करना चाहते हैं, अधिक मतदान कर उन्हें करारा जवाब दीजिए. बम-बंदूक के रास्ते से समस्याओं के समाधान नहीं होते हैं.