देश

प्रदूषण से राजधानी की हवा हुई और ‘जहरीली’,दिवाली के बाद स्मॉग की मोटी परत की गिरफ्त में दिल्ली,

दिवाली के बाद दिल्ली गुरुवार सुबह पूरी तरह से धुंध की सफेद चादर में लिपटी नजर आई। अधिकतर इलाकों में हवा की गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ बताई जा रही है।

पिछले कई दिनों से दिल्ली में प्रदूषण की वजह से हालात बेहद खराब बने हुए हैं। दिवाली के बाद गुरुवार सुबह दिल्ली की हवा की गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ की श्रेणी की तरफ बढ़ गयी है। राजधानी के अधिकांश हिस्से धुंध (स्मॉग) की सफेद चादर में लिपटे नजर आ रहे हैं। दिल्ली कई इलाके में लोगों ने रात आठ से दस बजे के बीच पटाखे फोड़ने के लिये सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय की गई समय-सीमा का उल्लंघन किया। दिल्ली में हवा का स्तर इतना खराब है इसमें गुरुवार दोपहर बाद ही सुधार होने की उम्मीद की जा रही है।

आनंद विहार में गुरुवार सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 999, चाणक्यपुरी में 459, मेजर ध्यान चंद स्टेडियम में 999 दर्ज किया गया। राजधानी सहित एनसीआर के कई हिस्सों में प्रदूषण का स्तर ‘बेहद खतरनाक’ पर पहुंच गया है। दिल्ली का राजपथ गुरुवार सुबह पूरी चरह से धुंध/स्मॉग में लिपटा नजर आया।  केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार शाम सात बजे एक्यूआई 281 था। रात आठ बजे यह बढ़कर 291 और रात नौ बजे यह 294 हो मयूर विहार एक्सटेंशन, लाजपत नगर, लुटियंस दिल्ली, आईपी एक्सटेंशन, द्वारका, नोएडा सेक्टर 78 समेत अन्य स्थानों से न्यायालय के आदेश का उल्लंघन किये जाने की खबर है। राजधानी के प्रदूषण निगरानी केंद्रों के ऑनलाइन संकेतकों ने ‘खराब’ और ‘बेहद खराब’ हवा की गुणवत्ता का संकेत दिया। रात आठ बजे के करीब पीएम 2.5 और पीएम 10 के स्तर में तेजी से वृद्धि हुई।