Breaking News उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

पार्टी और परिवार को बचाए रखने के लिए लगातार झेला अपमान : शिवपाल

शिवपाल यादव

सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाने वाले शिवपाल यादव अब सपा से आरपार पर उतर आए हैं। अपनी पार्टी के जिलाध्यक्षों और मंडल प्रभारियों की पहली बैठक में उन्होंने जहां समाजवादियों से अपने साथ आने की अपील की वहीं जिलाध्यक्षों को 30 नवंबर तक बूथों पर पहुंचने को कहा।

उन्होंने कहा, वह चाहते थे कि पार्टी और परिवार में कोई बिखराव न हो। इसलिए लगातार अपमान और तिरस्कार बर्दाश्त किया। लेकिन जब सारी सीमाएं खत्म हो गईं, लगा कि सपा का नेतृत्व करने वालों को समाजवाद व पार्टी के मूल सिद्धांतों में भरोसा नहीं है और स्वार्थी तत्व हावी हो गए हैं तो मजबूरी में दुखी मन से नया रास्ता चुनने का फैसला किया।

बैठक में नौ दिसंबर को लखनऊ में पार्टी की बड़ी रैली करने का फैसला हुआ। शिवपाल बोले- रैली में जुटने वाले समाजवादी साथी सही और गलत का फैसला कर देंगे।

शनिवार को 6 लाल बहादुर शास्त्री मार्ग स्थित पार्टी मुख्यालय में आयोजित बैठक में उन्होंने कहा, सपा में खांटी समाजवादियों की लगातार उपेक्षा से ऐसा राजनीतिक परिदृश्य बन रहा था जिसमें नई पार्टी बनाने के अलावा कोई रास्ता नहीं था।

प्रगतिशील सपा उन बुनियादी मुद्दों पर काम करेगी जिससे नौजवानों, किसानों, पिछड़ों व अल्पसंख्यकों के जीवन में आमूलचूल बदलाव आ सके। शिवपाल ने अपने संघर्ष के दिनों की कहानियां सुनाई। बताया कि कैसे कई साल सड़कों पर संघर्ष में बीते।

उन्होंने आह्वान किया कि लोकसभा चुनाव प्रदेश की राजनीतिक दिशा और दशा तय करने वाला होगा। लिहाजा, हमें इसे चुनौती के रूप में लेना होगा। प्रभावी प्रदर्शन करके यह संदेश देना होगा कि उप्र में भाजपा का विकल्प प्रगतिशील सपा ही है।शिवपाल ने कहा, नेताजी (मुलायम सिंह) हमारे पथ प्रदर्शक हैं। उनके जीवन से अनुभव हासिल किया है। वह जो कुछ भी हैं वह सब नेताजी की देन है। बैठक में पार्टी का स्थापना राष्ट्रीय सम्मेलन करने का भी फैसला हुआ। जल्द ही तारीख और स्थान तय कर दिया जाएगा। प्रवक्ता दीपक मिश्र ने कहा, शिवपाल यादव डॉ. लोहिया की नीतियों को बचाने और उपेक्षित समाजवादियों को सम्मान दिलाने की राह पर आगे बढ़े हैं। इसलिए सफलता पर कोई संशय नहीं है। बैठक को पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य, पूर्व विधायक राम नरेश यादव, पूर्व सांसद वीरपाल यादव व महासचिव आदित्य यादव ने भी संबोधित किया।