Breaking News देश होम

असम में उग्रवादियों ने 5 युवकों को गोलियों से भूना

असम में उग्रवादियों ने 5 युवकों को गोलियों से भूना, ममता ने NRC से जोड़ा मामला

असम के तिनसुकिया जिले में गुरुवार शाम को पांच बांग्ला भाषी युवकों की गोली मारकर हत्‍या कर दी. इस हत्याकांड में उल्‍फा(आई) के उग्रवादियों का हाथ बताया जा रहा है, हालांकि उल्फा ने इससे इनकार किया है.

यह घटना खेरबाड़ी गांव की है. बताया जा रहा है कि मारे गए लोग एक दुकान में बैठे हुए थे. उसी समय कुछ अज्ञात उग्रवादी   वहां आए और उन्‍हें ब्र‍ह्मपुत्र नदी के किनारे ले गए. अधिकारियों ने बताया कि संदिग्‍ध उग्रवादियों ने युवकों को लाइन में खड़ा किया और एक-एक करके गोली मार दी. घटना के बाद पुलिस और सेना मौके पर पहुंची.मुख्‍यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने घटना की कड़ी निंदा की है. उन्‍होंने मंत्री केशव महंत और तपन कुमार गोगोई को घटना की जानकारी लेने के लिए मौके के लिए रवाना कर दिया.

उन्‍होंने डीजीपी कुला सैकिया और एडीजीपी मुकेश अग्रवाल को भी घटनास्‍थल जाने को कहा है. मुख्‍यमंत्री ने कहा कि दोषियों को बख्‍शा नहीं जाएगा और उनसे कड़ाई से पेश आया जाएगा.पुलिस ने बताया कि यह घटना रात 8.55 बजे की है और घटनास्‍थल धोला-सादिया पुल से छह किलोमीटर दूर है. यह जगह असम-अरुणाचल प्रदेश सीमा के करीब है. अभी उल्‍फा (आई) ने जिम्‍मेदारी नहीं ली है. सर्च अभियान शुरू कर दिया गया है.

पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने हत्‍या की निंदा की है. उन्‍होंने इन हत्‍याओं को एनआरसी से जोड़ा. बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘असम से बुरी खबर आ रही है. हम तिनसुकिया में हुए बर्बर हमले की निंदा करते हैं. क्‍या यह एनआरसी का नतीजा है? शोकसंतप्‍त परिवारों के प्रति दुख जताने के लिए हमारे पास कोई शब्‍द नहीं है. दोषियों को जल्‍द से जल्‍द सजा दी जानी चाहिए.’